पीएम मोदी ने कांग्रेस को लिया आड़े हाथ, बोले- चौकीदार कर रहा ईमानदारी से काम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को गाजीपुर और वाराणसी दौरे के दौरान किसान, गंगा निर्मलीकरण एवं अन्य योजनाओं के बहाने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा, चौकीदारी की वजह से चोरों की नींद उड़ी हुई है। कांग्रेस ने किसानों को केवल लालीपाप देने का काम किया। कर्ज माफी के नाम पर लूट मचाई हुई है। वाराणसी में उन्होंने कहा कि गंगा निर्मलीकरण के प्रति पूर्ववर्ती सरकारों की नीयत साफ नहीं थी। मां गंगा के नाम पर करोड़ों रुपए बहा दिए गए। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम साफ नीयत के साथ निर्मल और अविरल गंगा के लक्ष्य की ओर बढ़ रहे हैं। प्रधानमंत्री के साथ दोनों स्थानों पर राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के अलावा सूबे के कई मंत्री और पूर्वांचल के कई सांसद भी मौजूद रहे। 

सुहेलदेव पर डाक टिकट जारी
प्रधानमंत्री ने गाजीपुर में महाराजा सुहेलदेव की स्मृति में डाक टिकट जारी किया, साथ ही एक मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया। वहीं, वाराणसी में देश के पहले अन्तर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान के लोकार्पण के साथ 278 करोड़ की विकास योजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया। उन्होंने दूरसंचार विभाग के पांच लाख पेंशनरों के लिए संपन्न योजना का लोकार्पण किया। उन्होंने 11 जिलों के बुनकर-शिल्पियों को 2000 करोड़ का ऋण बांटा।
गाजीपुर के आरटीआई मैदान पर आयोजित जनसभा में प्रधानमंत्री ने अपने भाषण की भोजपुरी में शुरुआत की और गाजीपुर के पहले सांसद विश्वनाथ गहमरी, गौरीशंकर राय, परमवीर चक्र विजेता वीर अब्दुल हमीद को नमन किया।  प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जो भी हो रहा है, किसानों की आय दोगुना करने के लिए हो रहा है। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि तीन राज्यों में सरकार बदलते ही यूरिया के लिए लाठियां चलने लगी हैं। कर्नाटक में कर्ज माफी का किसानों को लालीपाप पकड़ा दिया गया। लाखों किसानों का कर्ज माफ होना था लेकिन सिर्फ आठ सौ लोगों को फायदा मिला। किसानों के साथ किस तरह का धोखा हो रहा है, उसे समझना चाहिए। जिनका कर्ज माफ नहीं हुआ, उनके पीछे पुलिस छोड़ दी गई है। 
 मोदी ने कहा कि तात्कालिक लाभ के लिए जो वादे और फैसले होते हैं, उनसे देश का फायदा नहीं होता। कांग्रेस ने 2009 के चुनाव से पहले भी कर्ज माफी का वादा किया था लेकिन किसानों को धोखा दिया गया। 
 मोदी ने कहा कि कांग्रेस की सरकार ने स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू ही नहीं किया था। अगर उस वक्त रिपोर्ट लागू हो गई होती तो किसान आज कर्जदार होता ही नहीं। हमारी सरकार ने उस रिपोर्ट को बाहर निकाला और एमएसपी डेढ़ गुना लागू किया गया। प्रधानमंत्री ने गाजीपुर एवं पूर्वांचल के लिए हाल में शुरू की गई कई परियोजनाओं का जिक्र किया। कहा, इन योजनाओं के पूरा होने के बाद किसानों व युवाओं को लाभ होगा। 
 

बुनकरों-शिल्पियों से हुए मुखातिब
वाराणसी के बड़ालालपुर स्थित पं.दीनदयाल हस्तकला संकुल में पूर्वांचल के शिल्पियों और उद्यमियों से मुखातिब प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रवासी सम्मेलन काशी के लिए विशेष अवसर है। इसे काशी को अपने हाथ से जाने नहीं देना चाहिए। उन्होंने कहा, मेरी मंशा है कि प्रवासियों को काशी प्रभावित तो करे ही, प्रेरित भी करे। आने वाले दिनों में हमें दुनिया के सामने पुरातन काशी का आधुनिक स्वरूप रखना है। 

भव्य बन रही दिव्य काशी
प्रधानमंत्री ने कहा अब काशी में परिवर्तन दिखने लगा है। दिव्य काशी अब भव्य काशी बनने लगी है। आज जितनी भी योजनाओं को लोकार्पण या शिलान्यास हुआ है, उन सभी का संबंध काशी के बहुमुखी विकास से है। काशी की आत्मा से छेड़छाड़ किए बिना यह चिर पुरातन शहर नई काया के साथ दुनिया के सामने आएगा। जो काम माता अहिल्याबाई दो सौ वर्ष पूर्व करना चाहती थीं, अब वह हो रहा है।
 

मेडिकल हब बन रहा है पूर्वांचल
पीएम ने गाजीपुर में कहा कि समाज के आखिरी पायदान पर खड़े व्यक्ति को गरिमापूर्ण जीवन देने की अभी शुरुआत हुई है। पूर्वांचल में स्वास्थ्य सेवा के लिए उठाया गया कदम उसी दिशा में एक कदम है। जिस मेडिकल कालेज का शिलान्यास किया गया है, उससे आधुनिक चिकित्सा सुविधा तो मिलेगी ही, यहां के नौजवानों के डाक्टर बनने का सपना अपने घर में पूरा करने का मौका मिलेगा। कालेज बनने से यहां का जिला अस्पताल तीन सौ बेड का बन जाएगा। इसके अलावा गाजीपुर में सौ बेड वाले मैटर्निटी अस्पताल की सुविधा भी जुड़ चुकी है। गाजीपुर में मेडिकल कालेज, गोरखपुर में एम्स, वाराणसी में बन रही आधुनिक सेवाएं पूर्वांचल को नई दिशा देंगी।  

सुहेलदेव जैसे वीर को पिछली सरकारों ने भुला दिया
पीएम मोदी ने कहा कि महाराजा सुहेलदेव के महान कार्यों को हर घर में पहुंचाने का काम आज जारी पोस्टल स्टैंप के जरिये होने जा रहा है। महाराजा सुहेलदेव की वीरता और जीवन की चर्चा करते हुए कहा कि ऐसे वीरों को पहले की सरकारों ने भुला दिया लेकिन उनका सम्मान करना हमारी सरकार ने अपना दायित्व समझा है। सरकार का दृढ संकल्प है कि जिसने भी भारत की रक्षा सुरक्षा में योगदान दिया है, उनकी स्मृति को मिटने नहीं दिया जाएगा। 

महाराज सुहेलदेव को एक हजार साल में कभी नहीं मिला सम्मान-योगी 

योगी ने गाजीपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस सरकार ने बिना किसी भेदभाव के सभी के लिए ऐतिहासिक काम किया है। उन्होंने कहा कि एक हजार वर्षों तक महाराज सुहेल देव को किसी ने सम्मान नहीं दिया। पहली बार भव्य डाक टिकट उनकी स्मृति में जारी किया गया है। 

प्रधानमंत्री बनारस को बुनियादी सुविधाओं से जुड़ी पौने तीन सौ करोड़ की 29 परियोजनाओं की सौगात देंगे। प्रधानमंत्री के कार्यक्रमों में सूबे के राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा, सूबे के कृषिमंत्री सूर्य प्रताप शाही के अलावा ईरी व वस्त्र मंत्रालय के आला अधिकारी भी शिरकत की।

Sources :- Hindustan News

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

362FansLike
49FollowersFollow
360FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles