शिक्षकों ने वेतन के लिए प्रदर्शन कर जताया विरोध

पडरौना। जनपद में नवनियुक्त 591 शिक्षकों का शैक्षिक प्रमाण पत्र का सत्यापन आन लाइन नहीं हो पाने की वजह से पिछले चार महीने से वेतन भुगतान नहीं हो पा रहा है। बार- बार शिकायत करने के बावजूद जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे है। जिसकी वजह से शिक्षकों को आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ रहा है। गुरुवार को विद्यालय पर अध्यापन कार्य करने के बाद बीएसए कार्यालय और डीएम कार्यालय पहुंचे शिक्षकों ने प्रदर्शन कर विरोध जताया और चेतावनी दी कि यदि अविलंब सत्यापन कार्य पूरा करा कर वेतन का भुगतान नहीं किया गया तो मजबूरी में उन्हें आंदोलन की राह पकड़नी पड़ेगी।

गुरुवार को शिक्षक गुलाब यादव की अगुवाई में विवेक, मोनिका भाटी, प्रिया, ज्योति, अर्चना पोखाल, उर्मिला आदि शिक्षक अध्यापन कार्य पूर्ण करने बाद डीएम और बीएसए कार्यालय पहुंचे और फिर विरोध प्रदर्शन किया। शिक्षकों का आरोप था कि उनकी तैनाती के करीब चार माह बाद भी उनके शैक्षिक प्रमाण पत्रों का ऑनलाइन सत्यापन नहीं हो पा रहा है।

जबकि पूर्व में भी बीएसए को मांग पत्र सौंप कर सत्यापन कराकर वेतन भुगतान कराने की मांग की गई थी। बीएसए अरुण कुमार की ओर से बीस दिनों के भीतर कार्रवाई का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ। दूसरे जनपदों से यहां आकर शैक्षणिक कार्य करने वाले शिक्षकों को दैनिक जरूरतें पूरी करने में भी परेशानी हो रही है। डीएम और बीएसए को प्रार्थनापत्र देकर समस्याएं दूर कराने की मांग की। डीएम ने शिक्षकों को समस्या दूर कराने का आश्वासन दिया।

Sources :- amarujala.com

Related posts

Leave a Reply

You cannot copy content of this page
× समाचार भेजें