जानिए त्रिभुवन ने कैसे फसलों का उत्पादन कर की आय दोगुनी

सरसों और मेंथा की खेती से संवार रहे तकदीर

महराजगंज / दबंग भारत न्यूज़ – निचलौल विकास खंड क्षेत्र के जयश्री निवासी किसान त्रिभुवन उर्फ राजू पटेल ने सीजन के अनुसार बड़े पैमाने पर तीन फसलों का उत्पादन कर विकास की ओर अग्रसर हो रहे हैं।

वह सीजन के मुताबिक तकनीकी का प्रयोग कर तीन फसल काटने में महारथ हासिल कर लिए हैं। किसान त्रिभुवन उर्फ राजू पटेल ने स्नातक तक शिक्षा हासिल की इंटरमीडिएट कृषि विषय से हैं। पढ़ाई पूरी करने के बाद नई तकनीकी से कृषि कार्य में जुट गए। इनके पास कुल 11 एकड़ खेती की भूमि है। जिसमें से आठ एकड़ खेती में सरसों की फसल लगा रखे हैं।


उन्होंने बताया कि एक वर्ष में तीन फसलों की कटाई कर आमदनी को दोगुनी कर रहे हैं। धान की कटाई के बाद खेतों को कृषि योग्य बनाते हैं। उसके बाद 15 से 30 अक्तूबर के बीच सरसों की बुआई कर देते हैं। सरसों की फसल लगाने में प्रति एकड़ करीब छह से सात हजार की लागत आती है। जिसमें प्रति एकड़ आठ से नौ क्विंटल सरसों की पैदावार होती है। बाजारों में साढ़े चार हजार से पांच हजार के बीच आसानी से बिक जाती है।


जनवरी माह के अंतिम में सरसों फसल की कटाई कर मेंथा की फसल लगाने के लिए खेतों को तैयार करते हैं। फरवरी माह में 10 से 25 तारीख के बीच मेंथा की रोपाई कर देते हैं। जो धान की रोपाई से पहले करीब 70 से 90 दिनों के बीच में मेंथा की फसल पक कर तैयार हो जाती है।

मेंथा की खेती में करीब 12 से 15 हजार रुपये की लागत आती है। इसकी पैदावार प्रति एकड़ 50 से 60 किलो होता है। जिसकी कीमत बाजारों में एक हजार से लेकर तीन हजार तक रहता है। इस प्रकार से इनकी आमदनी आम किसानों से प्रतिवर्ष दोगुनी होती रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Stay Connected

362FansLike
49FollowersFollow
360FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles