कुंभ मेला में कुल कितने अखाड़े हैं, क्या है उनका इतिहास?

आम तौर पर ‘अखाड़ा’ शब्द सुनते ही पहलवानी और कुश्ती का ध्यान आता है लेकिन कुंभ में साधु-संतों के कई अखाड़े हैं. ज़ोर-आज़माइश तो वहाँ भी होती है, लेकिन धार्मिक वर्चस्व के लिए. शाही सवारी, रथ, हाथी-घोड़े की सजावट, घंटा-बाजे, नागा-अखाड़ों के करतब और यहाँ तक कि तलवार और बंदूक तक के प्रदर्शन होता है. इन दिनों प्रयागराज में साधु-संतों…

You cannot copy content of this page
× समाचार भेजें