योगी आदित्यनाथ ने दिया किसानों को बड़ा तोहफा, सस्ती यूरिया खाद का वितरण शुरू

अच्छी खबर यूरिया की कीमतों में कमी से किसानों को बड़ी राहतअब 45 किलोग्राम का बैग 266.50 रुपये योगी सरकार ने किसानों को दिया तोहफा, 10 फीसदी सस्ती हुई यूरिया

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश में यूरिया के दामों में कमी की है। सरकार ने उत्तर प्रदेश में प्राकृतिक गैस पर अतिरिक्त मूल्य वर्धित कर (वैट) को वापस ले लेने के बाद शनिवार से यूरिया खाद की नई दरें प्रभावी हो गई। अब यूरिया की 45 किलोग्राम की बोरी 299 के बजाए 266.50 रुपये हो गई है। इसी तरह से 50 किलोग्राम की बोरी 330.50 रुपये के बजाए 295 रुपये मिलेगी। शनिवार को जिले में पहुंची खाद को जिला कृषि विभाग के अधिकारियों ने सभी तहसीलों में खाद के फुटकर विक्रेताओं की दुकान पर खड़ा होकर बिक्री कराया।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली सरकार ने प्रदेश में यूरिया के दामों में कमी करने के लिए प्राकृतिक गैस पर अतिरिक्त मूल्य वर्धित कर (वैट) को वापस ले लिया है। इस कर की वजह से यूरिया का दाम प्रदेश में बढ़ गया था। वैट में इस कटौती से राज्य सरकार के राजस्व में करीब 1000 करोड़ रुपये की कमी आएगी। 
बता दे कि केन्द्र एवं राज्य की सरकार वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लिए संकल्पबद्ध है। इसके लिए लगातार प्रयासरत हैं। मुख्यमंत्री का यह निर्णय उस दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। प्रदेश के किसान कई वर्षों से उत्तर प्रदेश में अन्य प्रदेशों की दरों पर ही यूरिया उपलब्ध कराने की मांग कर रहे थे। सरकार के इस फैसले का लाभ लोकसभा चुनावों में भाजपा को मिल सकता है। फरवरी माह में भारतीय किसान मोर्चा को गोरखपुर जनपद में दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन है जिनमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सम्मेलन करेंगे। इस सम्मेलन में देश भर से 5000 से ज्यादा किसान प्रतिनिधि शामिल होंगे। 

1589 टन यूरिया वितरण के लिए मिली
शनिवार को जनपद में 1589 टन यूरिया खाद वितरण के लिए उपलब्ध हुई। इस रैक के पहुंचने के बाद नई दरों पर सहकारी समितियों, सहकारी संघो, पीसीएफ, एग्रो कृषक सेवा केंद्रों, इफको ई बाजार, वन स्टॉफ शाप एग्रीजक्शन और आईएफएफडीसी केंद्रों पर भेजा गया। जिला कृषि अधिकारी अरविंद कुमार चौधरी समेत अन्य अधिकारियों और सहकारिता विभाग के अधिकारियों की देखरेख में यूरिया खाद का वितरण कराया गया।

Sources :- livehindustan.com

Related posts

Leave a Reply

You cannot copy content of this page
× समाचार भेजें