रामविलास पासवान के खिलाफ धरने पर बैठी उनकी बेटी, बोलीं- अपने बयान पर माफी मांगें पापा

केन्द्रीय मंत्री और लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान के खिलाफ उनकी बेटी ने मोर्चा खोल दिया है.

केन्द्रीय मंत्री और लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान के खिलाफ उनकी बेटी ने मोर्चा खोल दिया है. पासवान के अंगूठा छाप वाले बयान को लेकर खुद उनकी अपनी बेटी ही पटना में धरना-प्रदर्शन पर बैठ गई. रामविलास की बेटी आशा देवी को इस विरोध प्रदर्शन में आरजेडी की महिला विंग का भी साथ मिला है.

आशा पासवान ने शनिवार को ही इस बात की घोषणा की थी कि अगर उनके पिता ने अपने बयान को लेकर माफी नहीं मानेंगी तो वो उनके खिलाफ धरना देंगी. आशा पासवान रामविलास की पहली पत्नी की बेटी हैं और उन्होंने अपने पिता पर मां का अपमान करने का भी आरोप लगाया था. रामविलास के अंगूठा छाप वाले बयान से उनकी बेटी आशा देवी बेहद नाराज हैं. आशा देवी का कहना है कि उनके पिता ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पर निशाना साधते हुए पूरे महिला समाज को अपमानित किया है. इसके लिए रामविलास पासवान को राबड़ी देवी से मांफी मांगना होगा नहीं तो उनके खिलाफ वो आंदोलन करेंगी.

आशा देवी का कहना है कि वो अपने पिता के खिलाफ संसदीय क्षेत्र हाजीपुर में उनके खिलाफ प्रचार भी करेंगी. रामविलास पासवान ने बिना नाम लिये कहा था कि ‘वे (राजद) सिर्फ नारेबाजी करते हैं और एक अंगूठा छाप को मुख्यमंत्री बनाते हैं.’

पिता के इस बयान के बाद आशा ने कहा है कि मैं उनको सबक सिखा दूंगी. मेरे पिता ने सिर्फ एक नहीं बल्कि देश भर की महिलाओं का अपमान किया है. अपने पिता का जिक्र करते हुए आशा ने कहा कि मां को अंगूठा छाप होने के कारण ही उन्होंने छोड़ा था. आशा ने कहा कि उनके पिता ने यह बयान देकर राबडी देवी को अपमानित किया है इससे हम सभी महिलाएं दुखी हैं. उन्हें ऐसा नहीं बोलना चाहिए था.

अंगूठा छाप वाले बयान पर चिराग पासवान ने कोई भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया. चिराग ने कहा कि आशा पासवान हमारे परिवार की सदस्य हैं और हम पारिवारिक मामले पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे.

Sources :- news18.com

Related posts

Leave a Reply

You cannot copy content of this page
× समाचार भेजें